RBI ने जारी की अवैध फॉरेक्‍स ट्रेडिंग ऐप की अलर्ट लिस्‍ट (फाइल फोटो)

BREAKING NEWS | RBI ने विदेशी मुद्रा ऐप्स की अलर्ट सूची जारी की

RBI ने विदेशी मुद्रा ऐप्स की अलर्ट सूची जारी की: इस सूची में अनधिकृत ऐप्स शामिल हैं जिनमें बहुत प्रसिद्ध OctaFX भी शामिल है जो कि IPL टीम दिल्ली कैपिटल्स का आधिकारिक ट्रेडिंग प्रायोजक है| भारतीय रिजर्व बैंक (RBI): भारत में विदेशी मुद्रा बाजार को नियंत्रित करने वाले ने अनधिकृत इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर विदेशी मुद्रा लेनदेन में शामिल विदेशी मुद्रा दलालों की एक अलर्ट सूची जारी की है।

भारतीय रिज़र्व बैंक ने देखा कि इतने सारे ब्रोकर प्लेटफ़ॉर्म उपयोगकर्ताओं को उच्च रिटर्न जैसे आकर्षक ऑफ़र के साथ आकर्षित करते हैं। आगे रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया इन प्लेटफॉर्म्स के यूजर्स को एक धमकी भरी खबर देता है। आरबीआई ने कहा कि अब से इन प्रतिबंधित प्लेटफॉर्म के यूजर्स पर मुकदमा चलाया जा सकता है।

BREAKING NEWS | RBI ने विदेशी मुद्रा ऐप्स की अलर्ट सूची जारी की

इस सूची में 34 अवैध ऐप्स, OctaFX सहित फॉरेक्स प्लेटफॉर्म शामिल हैं, जो इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) टीम दिल्ली कैपिटल्स का आधिकारिक प्रायोजक है।

RBI issues alert list: Declares these 34 forex trading Platforms Unauthorized.

👉 आरबीआई ने अवैध विदेशी मुद्रा व्यापार ऐप Here's a full list of unauthorized forex trading apps and websites

इसके अलावा आरबीआई ने कहा कि अगर कोई ऐप या ब्रोकर प्लेटफॉर्म इस सूची में शामिल नहीं है तो उसे भारत के शीर्ष बैंक द्वारा अधिकृत नहीं माना जाना चाहिए।

भारतीय रिजर्व बैंक के नियमों के अनुसार, निवासी व्यक्ति को अनुमत उद्देश्यों और अधिकृत फर्म के साथ विदेशी मुद्रा लेनदेन करना चाहिए, यह फेमा (विदेशी मुद्रा विनिमय प्रबंधन अधिनियम, 1999) के नियमों और विनियमों के अनुसार किया जाना चाहिए।

अगर कोई विदेशी मुद्रा लेनदेन करना चाहता है; ये इलेक्ट्रॉनिक रूप से किया जा सकता है। ऐसा करते समय, भारत के एनएसई (नेशनल स्टॉक एक्सचेंज), बीएसई (बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज), और एमएसई (मेट्रोपॉलिटन स्टॉक एक्सचेंज) जैसे आरबीआई द्वारा मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंजों के साथ लेनदेन किया जाना चाहिए।

आरबीआई ने विदेशी मुद्रा आरबीआई ने अवैध विदेशी मुद्रा व्यापार ऐप व्यापार पर प्रतिबंध लगाया? भारत में विदेशी मुद्रा व्यापार प्रतिबंध?

सवाल उठता है कि भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग के प्लेटफॉर्म पर प्रतिबंध क्यों?

इसकी शुरुआत इसी साल फरवरी से हुई है, जब आरबीआई ने इतने लोगों को ठगते देखा था। उस समय आरबीआई ने ऐसे प्लेटफॉर्मों को चेतावनी दी थी जिनमें अनधिकृत तरीके से विदेशी मुद्रा व्यापार शामिल है।

आरबीआई पहले ही ऐसी संस्थाओं को यह कहकर चेतावनी दे चुका है कि उन्हें उनके खिलाफ कुछ कड़ी दंडात्मक कार्रवाई करने की आवश्यकता है जो विदेशी मुद्रा विनिमय प्रबंधन अधिनियम (फेमा) या इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म (ईटीपी) के तहत विनियमित नहीं हैं।

उस दौरान भारतीय रिजर्व बैंक ने अनधिकृत संस्थाओं की सूची जारी नहीं की लेकिन आरबीआई ने उनसे स्पष्ट रूप से स्पष्टीकरण मांगा।

इसके कारण आरबीआई ने 34 अनधिकृत विदेशी मुद्रा दलालों की सूची जारी की।

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने इन 34 संस्थाओं को चेतावनी दी और दावा किया कि वे न तो FEMA अधिनियम, 1999 के तहत विदेशी मुद्रा में सौदा करने के लिए अधिकृत हैं और न ही इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म के रूप में।

अगर आपने भारत में विदेशी मुद्रा व्यापार प्रतिबंध के बारे में खबर सुनी है, तो यहां आएं और पूरी सच्चाई जानें कि आरबीआई ने अवैध विदेशी मुद्रा व्यापार ऐप आरबीआई ने इन 34 संस्थाओं पर क्यों अलर्ट किया। आरबीआई ने समय-समय पर इन संस्थाओं का अवलोकन किया और लोगों और उनके पैसे की सुरक्षा के लिए आरबीआई ने ऐसा किया।

ऐसा करके आरबीआई दूसरे प्लेटफॉर्म्स या वेबऐप्स को कड़ा संदेश दे रहा है जो किसी को भी ठगने की फ़िराक में रहते है |

RBI Alert List: इन 34 वेबसाइट से रहें बचके! इस्तेमाल करने पर हो सकती है कानूनी कार्रवाई, आरबीआई ने दी चेतावनी

RBI Alert List : भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की ओर से जारी सूची में OctaFX, Olymp Trade, I-Forex, FBS, Expert Option, Binomo, AVA Trade, IQ Option, Alpari, Forex.com और TP ग्लोबल फॉरेक्स लिस्ट में शामिल 34 नामों में से हैं। आरबीआई ने इन ऐप को लेकर लोगों को चेताया है और उपयोग नहीं करने की सलाह दी है।

RBI Alert List

आरबीआई ने इन ऐप को लेकर लोगों को चेताया है और उपयोग नहीं करने की सलाह दी है

केंद्रीय बैंक ने जारी की लिस्ट
अब आरबीआई ने इन वेबसाइटों की लिस्ट जारी की है। अलर्ट सूची में शामिल संस्थाएं न तो विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम, 1999 (FEMA) के तहत विदेशी मुद्रा में सौदा करने के लिए अधिकृत हैं और न ही विदेशी मुद्रा लेनदेन के लिए इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म संचालित करने के लिए अधिकृत हैं। आरबीआई के मुताबिक, फेमा के संदर्भ में निवासी व्यक्ति केवल अधिकृत व्यक्तियों के साथ और अनुमत उद्देश्यों के लिए विदेशी मुद्रा लेनदेन कर सकते हैं। जबकि अनुमत विदेशी मुद्रा लेनदेन इलेक्ट्रॉनिक रूप से निष्पादित किए जा सकते हैं, उन्हें केवल आरबीआई या मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंजों जैसे नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड, बीएसई लिमिटेड और आरबीआई ने अवैध विदेशी मुद्रा व्यापार ऐप मेट्रोपॉलिटन स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड द्वारा अधिकृत ईटीपी पर ही किया जाना चाहिए।

इन अवैध फॉरेक्‍स ट्रेडिंग ऐप की जारी की है लिस्ट
Alpari, AnyFX, Ava Trade, Binomo, e Toro, Exness, Expert Option, FBS, FinFxPro, Forex.com, Forex4money, Foxorex, FTMO, FVP Trade, FXPrimus, FXStreet, FXCm, FxNice, FXTM, HotFores, ibell Markets, IC Markets, iFOREX, IG Market, IQ Option, NTS Forex Trading, Octa FX, Olymp Trade, TD Ameritrade, TP Global FX, Trade Sight FX, Urban Forex, Xm और XTB है।

आरबीआई ने जारी की अलर्ट लिस्ट: इन 34 फॉरेक्स ट्रेडिंग ऑनलाइन प्लेटफॉर्म को अवैध घोषित किया

आरबीआई ने 34 विदेशी मुद्रा व्यापार ऑनलाइन प्लेटफॉर्म की लिस्ट जारी की है. लिस्ट जारी करते हुए आीबीआई ने कहा है कि कोई भी अनधिकृत ईटीपी पर विदेशी मुद्रा लेनदेन न करें

RBI issues alert list

RBI issues alert list

gnttv.com

  • नई दिल्ली,
  • आरबीआई ने अवैध विदेशी मुद्रा व्यापार ऐप
  • 11 सितंबर 2022,
  • (Updated 11 सितंबर 2022, 2:22 PM IST)

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने अनाधिकृत इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग आरबीआई ने अवैध विदेशी मुद्रा व्यापार ऐप प्लेटफॉर्म (ETPs) से विदेशी मुद्रा लेनदेन को लेकर चेतावनी दी है. आरबीआई ने उन संस्थाओं की एक 'अलर्ट लिस्ट' जारी की है. जो न तो विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम, 1999 (फेमा) के तहत विदेशी मुद्रा में सौदा करने के लिए अधिकृत हैं और न ही अपनी वेबसाइट पर विदेशी मुद्रा लेनदेन के लिए इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म संचालित करने के लिए अधिकृत हैं.

एक विज्ञप्ति में, केंद्रीय बैंक ने कहा कि जारी की गई 'अलर्ट सूची' में ऐसी कंपनियों के नाम है जो आरबीआई द्वारा अधिकृत नहीं हैं. आरबीआई ने बताया कि फेमा के तहत केवल अधिकृत व्यक्तियों के साथ और कुछ उद्देश्यों के लिए ही विदेशी मुद्रा लेनदेन कर सकते हैं. सभी कंपनियों को केवल आरबीआई या मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंजों जैसे नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड (एनएसई), बीएसई आरबीआई ने अवैध विदेशी मुद्रा व्यापार ऐप लिमिटेड और मेट्रोपॉलिटन स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड की तरफ से विदेशी मुद्रा में सौदा अधिकृत ईटीपी पर ही किया जाना चाहिए.

आरबीआई ने कहा कि जनता को एक बार फिर आगाह किया जाता है कि वे अनधिकृत ईटीपी पर विदेशी मुद्रा लेनदेन न करें या इस तरह के अनधिकृत लेनदेन के लिए धन जमा / जमा न करें. आरबीआई की तरफ से प्रतिबंधित 34 विदेशी मुद्रा व्यापार ऑनलाइन प्लेटफॉर्म की पूरी लिस्ट यहां दी गई है.

फेमा के तहत अनुमत उद्देश्यों के अलावा या आरबीआई की तरफ से अधिकृत नहीं किए गए ईटीपी पर विदेशी मुद्रा लेनदेन करने वालों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

RBI Alert List : इन ऐप्स और वेबसाइट्स से सावधान ! इन पर किया फॉरेन करेंसी ट्रांजैक्शन तो हो सकती है कानूनी कार्रवाई

RBI ने 34 ऐसी एंटिटीज़ की लिस्ट जारी की है, जिन्हें विदेशी मुद्रा में लेनदेन करने या फॉरेक्स ट्रांजैक्शन्स के लिए इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म (ETP) ऑपरेट करने की कोई इजाजत नहीं दी गई है. लिहाजा उनके जरिए लेनदेन करना गैरकानूनी है.

RBI Alert List : इन ऐप्स और वेबसाइट्स से सावधान ! इन पर किया फॉरेन करेंसी ट्रांजैक्शन तो हो सकती है कानूनी कार्रवाई

RBI की अलर्ट लिस्ट में शामिल 34 एंटिटीज़ को विदेशी मुद्रा में लेनदेन करने या ETP ऑपरेट करने की इजाजत नहीं दी गई है.

RBI Alert List of entities not authorised to deal in forex: अगर आप किसी ऐसी वेबसाइट के जरिए फॉरेन एक्सचेंज से जुड़ा लेनदेन करते हैं या करने की सोच रहे हैं, जिसके कानूनी तौर पर वैध होने के बारे में आपको पक्के तौर पर कुछ पता नहीं आरबीआई ने अवैध विदेशी मुद्रा व्यापार ऐप है, तो सावधान हो जाइए. रिजर्व बैंक ने ऐसी 34 एंटिटीज़ और उनकी वेबसाइट्स की अलर्ट लिस्ट जारी की है, जिनके जरिए विदेशी मुद्रा से जुड़ा कोई भी लेनदेन करने पर आपके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सकती है.

रिजर्व बैंक की तरफ से जारी इन अनधिकृत एंटिटीज़ की लिस्ट में ओलिंप ट्रेड(Olymp Trade), अल्पारी (Alpari), एनीएफएक्स (AnyFX), बिनोमो (Binomo), फॉरेक्स.कॉम (Forex.com), एफबीएस (FBS), फॉरेक्स4मनी (Forex4money), हॉट फॉरेक्स (HotForex), आईफॉरेक्स (iFOREX) और एक्सटीबी (XTB) जैसी 34 वेबसाइट्स शामिल हैं. इन सभी वेबसाइट्स की पूरी लिस्ट आप रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की वेबसाइट पर यहां जाकर देख सकते हैं: https://rbi.org.in/scripts/bs_viewcontent.aspx?Id=4183

रिजर्व बैंक की चेतावनी

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की तरफ से बुधवार को जारी एक बयान में बताया गया है कि अलर्ट लिस्ट में शामिल इन 34 एंटिटीज़ या वेबसाइट्स को विदेशी मुद्रा में लेनदेन करने या फॉरेक्स ट्रांजैक्शन्स के लिए इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म (ETP) ऑपरेट आरबीआई ने अवैध विदेशी मुद्रा व्यापार ऐप करने की कोई इजाजत नहीं दी गई है. लिहाजा इनका इस तरह की गतिविधियां संचालित करना पूरी तरह से गैरकानूनी हैं. रिजर्व बैंक ने यह चेतावनी भी दी है कि इन वेबसाइट्स के जरिए किसी भी तरह का विदेशी मुद्रा से जुड़ा लेनदेन करना न सिर्फ जोखिम भरा है, बल्कि ऐसा करने वाले के खिलाफ 1999 के विदेशी मुद्रा प्रबंधन कानून (FEMA) के तहत कानूनी कार्रवाई भी की जा सकती है.

Mcap of Top 10 Firms: टॉप 10 में से 8 कंपनियों का मार्केट कैप 1.15 लाख करोड़ बढ़ा, RIL को सबसे ज्यादा मुनाफा

रिजर्व बैंक की वेबसाइट पर देखें अलर्ट लिस्ट

रिजर्व बैंक ने इससे पहले 3 फरवरी 2022 को भी अपनी तरफ से बयान जारी करके आम लोगों को हिदायत दी थी कि वे किसी भी अनधिकृत ETP विदेशी मुद्रा के जरिए किसी तरह का लेनदेन न करें. साथ ही लोगों को किसी भी तरह के अनधिकृत फॉरेक्स ट्रांजैक्शन से दूर रहने की चेतावनी भी दी गई थी. लेकिन यह स्पष्टीकरण जारी करने के बावजूद रिजर्व बैंक के पास अब भी ऐसे रेफरेंस आते रहते हैं, जिनमें किसी ETP की कानूनी स्थिति के बारे में जानकारी मांगी जाती है. इसी बात को ध्यान में रखते हुए अब RBI ने अपनी वेबसाइट पर अनधिकृत एंटिटीज़ और वेबसाइट्स की अलर्ट लिस्ट डालने का फैसला किया है. हालांकि इसके साथ ही रिजर्व बैंक ने यह भी साफ किया है कि अगर कोई एंटिटी या वेबसाइट इस अलर्ट लिस्ट में शामिल नहीं है, तो इसका ये मतलब नहीं कि वो अधिकृत है. इस लिस्ट में सिर्फ उन्हीं एंटिटीज़ के नाम शामिल हैं, जिनके बारे में रिजर्व बैंक को यह बयान जारी करते समय मालूम था.

RBI ने जारी की अवैध फॉरेक्‍स ट्रेडिंग ऐप की अलर्ट लिस्‍ट

अवैध ऐप्स की लंबी सूची में OctaFX शामिल है, जो इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) टीम दिल्ली कैपिटल्स का आधिकारिक ट्रेडिंग स्‍पॉन्‍सर है। आरबीआई ने इन ऐप को लेकर लोगों को चेताया है और उपयोग नहीं करने की सलाह दी है।

RBI ने जारी की अवैध फॉरेक्‍स ट्रेडिंग ऐप की अलर्ट लिस्‍ट

RBI ने जारी की अवैध फॉरेक्‍स ट्रेडिंग ऐप की अलर्ट लिस्‍ट (फाइल फोटो)

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने इस सप्ताह अवैध इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर विदेशी मुद्रा लेनदेन में शामिल संस्थाओं की एक अलर्ट सूची जारी की। इसमें एक ऐप ऐसा भी है, जो IPL टीम दिल्‍ली कैपिटल को स्‍पॉन्‍सर करता है। यह अवैध संस्‍था या ऐप लोगों से हाई रिटर्न का वादा करके लुभाते हैं। आरबीआई ने कहा कि इन अवैध प्‍लेटफॉर्म के यूजर्स पर मुकदमा चलाया जा सकता है।

अवैध ऐप्स की लंबी सूची में OctaFX शामिल है, जो इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) टीम दिल्ली कैपिटल्स का आधिकारिक ट्रेडिंग स्‍पॉन्‍सर है। आरबीआई ने इन ऐप को लेकर लोगों को चेताया है और उपयोग नहीं करने की सलाह दी है, वरना यूजर्स पर कार्रवाई भी की जा सकती है। यहां अवैध फॉरेक्स ट्रेडिंग ऐप्स और वेबसाइटों की पूरी सूची है।

अवैध फॉरेक्‍स ट्रेडिंग ऐप

Alpari, AnyFX, Ava Trade, Binomo, e Toro, Exness, Expert Option, FBS, FinFxPro, आरबीआई ने अवैध विदेशी मुद्रा व्यापार ऐप Forex.com, Forex4money, Foxorex, FTMO, FVP Trade, FXPrimus, FXStreet, FXCm, FxNice, FXTM, HotFores, ibell Markets, IC Markets, iFOREX, IG Market, IQ Option, NTS Forex Trading, Octa FX, Olymp Trade, TD Ameritrade, TP Global FX, Trade Sight FX, Urban Forex, Xm और XTB है।

Gujarat: AAP सिर्फ वोट कटवा बनकर रह गई- आप विधायक ने BJP को दिया समर्थन तो सोशल मीडिया पर केजरीवाल पर ऐसे कसे गए तंज

Budh Margi: 18 जनवरी को ग्रहों के राजकुमार बुध होने जा रहे हैं मार्गी, इन 3 राशि वालों की धन- दौलत में अपार बढ़ोतरी के आसार

Hair Care: सफेद बालों से परेशान हैं तो आंवला का करें नैचुरल डाई बनाने में इस्तेमाल, जानिए कैसे करें तैयार

Happy New Year 2023: शिव और अमृत योग में शुरू होगा नया साल, इन 3 राशियों के शुरू होंगे अच्छे दिन, हर कार्य में सफलता के योग

आरबीआई ने यह भी कहा कि इस लिस्‍ट में नहीं आने वाले यूनिट को केंद्रीय आरबीआई ने अवैध विदेशी मुद्रा व्यापार ऐप बैंक की ओर से रजिस्‍टर्ड नहीं माना जाना चाहिए। भारतीय रिजर्व बैंक के मानदंडों के अनुसार, लोगों को (विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम, 1999) के अनुसार केवल रजिस्‍टर्ड संस्‍थाओं के साथ विदेशी मुद्रा लेनदेन करना चाहिए।

आरबीआई ने क्‍या कहा

आरबीआई के अनुसार, जबकि अनुमत विदेशी मुद्रा लेनदेन इलेक्ट्रॉनिक रूप से किए जा सकते हैं, उन्हें केवल आरबीआई या मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंजों जैसे नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड, बीएसई लिमिटेड और मेट्रोपॉलिटन स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड द्वारा इस उद्देश्य के लिए अधिकृत ईटीपी पर ही किया जाना चाहिए।

रेटिंग: 4.87
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 114